Thackeray Trailer Review: नवाजुद्दीन का दमदार एक्टिंग

शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे के जीवन पर आधारित फिल्म 'ठाकरे' का ट्रेलर रिलीज हो चुका है।

शिवसेना (Shivsena) के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे (Bala Saheb Thackeray) के जीवन पर आधारित फिल्म ‘ठाकरे’ (Thackeray) का ट्रेलर रिलीज हो चुका है। बाल केशव ठाकरे (Bal Keshav Thackeray) के रोल में नवाजुद्दीन सिद्दीकी (Nawazuddin Siddiqui) में अपना 100 परसेंट दिया है। दरअसल नवाजुद्दीन के बालासाहेब की शख्सियत के विशाल व्यक्तित्व में ढलने में उनकी कद-काठी ने बड़ा रोल अदा किया है। यही वजह रही है कि अभिनेता की संवाद शैली हो या व्यंग्यात्मक टिप्पणी, पूरे ट्रेलर में हमें नवाजुद्दीन में बालासाहेब देखने को मिला है।

नवाजुद्दीन सिद्दीकी खुद इस बात को कई बार कह चुके हैं कि इस ‘ठाकरे’ फिल्म में बालासाहेब का रोल निभाना उनकी जिंदगी का सबसे मुश्किल काम था। उनकी एक्टिंग, बेहतरीन डायलॉग्स नवाजुद्दीन के अभिनय की क्षमता को करीने से बड़े पर्दे पर दिखाते हैं।   फिल्म ‘ठाकरे’ नवाजुद्दीन के करियर में मील का पत्थर साबित होगी।

‘मुझे बॉम्बे शांत चाहिए’

‘मराठी’ और ‘हिंदुत्व’ रहे बालासाहेब की पहचान

वही वेशभूषा, वही हावभाव लेकिन थोड़ा ज्यादा ही एनर्जी के साथ परोसा गया थोड़ा तल्ख और थोड़ा व्यंग्यपूर्ण रवैया बालासाहेब के किरदार को बहुत हल्का कर देता है। हालांकि ‘भीख मांगने से अच्छा है, गुंडा बनके अपना हक छीनना।’ ‘जनता का काम करने के लिए जनता के बीच जाना होगा।’ सरीखे डायलॉग्स ठाकरे के किरदार में नवाजुद्दीन को प्रभावशाली दिखाते हैं। जैसा कि जगजाहिर है कि बालासाहेब ठाकरे ने ‘मराठियों’ और ‘हिंदुत्व’ को आगे रख अपना आंदोलन शुरू किया था और फिर देखते ही देखते उनके साथ हजारो-लाखों लोग जुड़ते चले गए और फिर जन्म लेता है वो ठाकरे जिसकी एक आवाज तब के बॉम्बे को ही नहीं बल्कि पूरे महाराष्ट्र के पहिए थामने के लिए काफी थी।

‘ठाकरे’ अगले साल 25 जनवरी को रिलीज होगी

फिल्म में अभिनेत्री अमृता राव (Amrita Rao) भी अहम किरदार में हैं और ट्रेलर में उनकी झलकियों से ज्यादा वह कहीं दिखाई नहीं दी हैं। बताते चलें कि ‘ठाकरे’ (Thackeray) फिल्म अगले साल 25 जनवरी को रिलीज होगी। फिल्म हिंदी और मराठी भाषा में रिलीज की जाएगी। बताया जा रहा है कि सेंसर बोर्ड ने कुछ सीन्स और डायलॉग्स को लेकर मेकर्स के समक्ष आपत्ति दर्ज कराई है। हालांकि फिल्म के प्रोड्यूसर और राइटर शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) फिल्म में किसी भी तरह की काट-छांट बर्दाश्त करने के मूड में नजर नहीं आ रहे हैं। उन्होंने मंगलवार को दावे से कहा कि बालासाहेब के जीवन आधारित इस फिल्म को बगैर किसी कट्स के रिलीज किया जाएगा।

Add new comment

Filtered HTML

  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Allowed HTML tags: <a> <em> <strong> <cite> <blockquote> <code> <ul> <ol> <li> <dl> <dt> <dd>
  • Lines and paragraphs break automatically.

Plain text

  • No HTML tags allowed.
  • Web page addresses and e-mail addresses turn into links automatically.
  • Lines and paragraphs break automatically.